CALL NOW 9999807927 & 7737437982
राष्ट्रीय

Bageshwar Dham: सुभाष चंद्र बोस के तर्ज पर बोले बागेश्वर बाबा- तुम मेरा साथ दो, मैं तुम्हें हिंदू राष्ट्र दूंगा

Bageshwar Dham: सुभाष चंद्र बोस के तर्ज पर बोले बागेश्वर बाबा- तुम मेरा साथ दो, मैं तुम्हें हिंदू राष्ट्र दूंगा

Pandit Dhirendra Shastri Statement: बागेश्‍वर धाम के चर्चित पीठाधीश्‍वर पंडित धीरेंद्र कृष्‍ण शास्‍त्री की कथा छत्तीसगढ़ के रायपुर में चल रही है. विवादों के बाद बागेश्वर महाराज की कथा सुर्खियों में है. सोमवार को बागेश्वर महाराज ने एक बार फिर से दिव्य दरबार लगाया और ऐसा बयान दिया जो चर्चा में आ गया.

उन्होंने भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने की बात कही. पंडित धीरेंद्र कृष्‍ण शास्‍त्री ने लोगों से कहा, तुम मेरा साथ दो, मैं हिंदू राष्ट्र दूंगा. पंडित धीरेंद्र कृष्‍ण शास्‍त्री ने ये बयान नेताजी सुभाष चंद्र बोस के तर्ज पर दिया है. नेताजी ने देश के लोगों में देशभक्ति की भावना को जगाने के लिए कई महत्वपूर्ण नारे दिए. उन्हीं में से एक था तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा.

‘आज पूरा हिंदू एक हो गया’

पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने कथा में मौजूद लोगों से कहा, चूड़ियां पहनकर मत देखो. ये उंगली सिर्फ बागेश्वर धाम पर नहीं है, बल्कि पूरे सनातन धर्म पर उंगली उठाई गई है.  भारत के लोगों आज रायपुर की धरती से हम ललकारते हैं. मीरा बाई, भगवान ब्रह्म को भी कसौटी पर खरा उतरना पड़ा है. आज पूरा हिंदू एक हो गया है.

उन्होंने कहा, सुभाष चंद्र बोस ने नारा दिया था कि तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आज़ादी दूंगा. मेरा नारा है कि तुम मेरा साथ दो, मैं हिंदू राष्ट्र दूंगा. इनको सनातन को निशाना बनाना था, लेकिन बालाजी ने इन सबके मुंह पर जोरदार थप्पड़ मारा है.  बाबा ने कहा, आज हम घोषित करते है कि भारत एक हिंदू राष्ट्र है. हिंदुओ से कहेंगे अब चुनोतियां से डरना नहीं है. डटकर मुकाबला करना है. सांच को आंच नहीं है. कुछ लोगों में सनातनी खून नहीं है.

विवादों में हैं बागेश्वर बाबा

पंडित धीरेंद्र शास्त्री दरअसल इन दिनों विवादों में फंसे हुए हैं. धीरेंद्र शास्त्री पर अंधविश्वास को फैलाने और बढ़ावा देने का आरोप लगा है. उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत भी हो चुकी. पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा था, भारत में चादर चढ़ाना और कैंडल जलाना तो आस्था है, लेकिन अर्जी का नारियल बांधना अंधविश्वास है. पता नहीं लोग इतना दोगलापन कहां से लाते हैं.

उन्होंने कहा था, देश में हिंदू बाबाओं के खिलाफ खास अभियान चलाया जा रहा है. इसी के चलते उन्हें भी निशाना बनाया जा रहा है, लेकिन वे इससे नहीं डरते. गौरतलब है कि महाराष्ट्र के नागपुर में श्रीराम चरित्र-चर्चा का आयोजन हुआ था. तब वहां धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का दरबार लगा था.

इस दौरान अंधश्रद्धा उन्मूलन समिति ने धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर जादू-टोने और अंधविश्वास फैलाने का आरोप लगाया था. धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर दिव्य दरबार और प्रेत दरबार की आड़ में जादू-टोना को बढ़ावा दिए जाने का आरोप था. इसके बाद से विवाद जारी है.

Previous Post: Varun Gandhi की फ्यूचर पॉलिटिक्स हो गई तय! अब कांग्रेस नहीं, इस पार्टी में होंगे शामिल?

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button