CALL NOW 9999807927 & 7737437982
दरभंगाबिहार

रेल यात्रियों की सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता-सांसद

रेल यात्रियों की सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता-सांसद

दरभंगा: गुरुवार को रेल संबंधी स्थायी समिति एवं रेल मंत्रालय के परामर्शदात्री समिति सदस्य सह दरभंगा सांसद डॉ गोपाल जी ठाकुर ने नई दिल्ली में आयोजित रेलवे स्टैंडिंग कमिटी की बैठक में भाग लेकर रेलवे परिचालन में संरक्षा उपाय सहित अन्य मुद्दों को प्राथमिकता से रखते हुए इससे जुड़ा ज्ञापन रेल संबंधी स्थायी समिति के सभापति राधामोहन सिंह एवं रेलवे के चेयरमैन अनिल कुमार लाहोटी को सौंपे। बैठक के पश्चात सांसद डॉ ठाकुर ने कहा कि भारतीय रेल देश की जीवन रेखा है। जो लगभग 67000 किमी से अधिक मार्ग कवर करती है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी अध्यक्षता वाली वर्तमान केन्द्र सरकार भारतीय रेलगाड़ी परिचालन में संरक्षा एवं सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देती है और भारतीय रेलों पर संरक्षा बढ़ाने के लिए निरंतर आधार पर सभी उपयुक्त कदम उठा रही है। जिसका परिणाम है कि देश में रेल दुर्घटना अब नही के बराबर होती है

उन्होंने कहा की वर्तमान रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव के देख रेख में भारतीय रेल नए आयाम को छू रहा है। रेल मंत्रालय सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए रेलपथ नवीकरण और अनुरक्षण, रेलपथ का उन्नयन, वेल्डेड पटरियां, पुलों की स्थिति निर्धारण एवं नियमित निरीक्षण, मरम्मत, सुदृढ़ीकरण सहित पुनर्निर्माण पर जोर दे रही है।

Best Competitive Exam App
सभी प्रकार के गवर्नमेंट एग्ज़ाम की तैयारी को सुनिश्चित करने के लिए आज हमारे ऐप को डाउनलोड करें

वहीं टक्कर से बचाव के लिए मल्टी आस्पेक्ट कलर लाइट सिग्नल, पैनल इंटरलॉकिंग, रूट रिले इंटरलॉकिंग, इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग वाले उन्नत सिग्नलिंग सिस्टम मुहैया करा रही है। आरक्षित डिब्बों के साथ साथ सवारी डिब्बों में भी आग से बचाव के लिए अग्निरोधक फर्निशिंग सामग्री का उपयोग किया जा रहा है। समपार पर दुर्घटना कम करने के लिए बिना चौकीदार वाले समपार को खत्म कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि मानव चूक कम करने के लिए संरक्षा कोटि के सभी रेल कर्मचारी को विशेष संरक्षित प्रशिक्षण, लोको पायलट को ड्राइविंग स्किल और प्रतिक्रिया समय को बेहतर बनाने के लिए सिमुलेटर आधारित प्रशिक्षण सहित अग्निशमन और अग्निशमन यंत्रों के उपयोग पर रनिंग कर्मचारियों के लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था की जा रही है।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार द्वारा दरभंगा सहित मिथिला में हजारों करोड़ की कई बड़ी रेल परियोजना को स्वीकृति दिया है। जिसमे दरभंगा रेलवे स्टेशन का विश्वस्तरीय स्टेशन में परिवर्तन, काकरघाटी – शीशो बायपास नई रेल लाइन निर्माण, दरभंगा – सहरसा नई रेल लाइन निर्माण के सर्वे कार्य को स्वीकृति, अमृत भारत योजना के तहत सकरी एवं लहेरियासराय रेलवे स्टेशन का जीर्णोधार, दरभंगा – मुजफ्फरपुर नई रेल लाइन को बजट आवंटन, लहेरियासराय स्टेशन पर लो कॉस्ट ओवरब्रिज का निर्माण, विभिन्न आरओबी, दरभंगा – समस्तीपुर रेल पथ का दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण, दरभंगा – जयनगर, दरभंगा – नरकटियागंज, दरभंगा – झंझारपुर का विद्युतीकरण, दरभंगा स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर छः का निर्माण एवं द्वितीय प्रवेश द्वार का निर्माण मुख्य रूप से शामिल है।

उन्होंने कहा कि दरभंगा स्टेशन पर लिफ्ट एवं एस्केलेटर की सुविधा, जिले के सभी छोटे बड़े रेलवे स्टेशन पर नई प्लेटफार्म, शेड, फूट ओवरब्रिज, पेयजल, शौचालय, प्रतीक्षालय, प्रकाश, सहित अन्य यात्री सुविधा का विकास हो रहा है।

उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार सिर्फ लोक लुभावन वादे कर जनता को दिग्भ्रमित करती थी, परंतु अश्विनी वैष्णव के नेतृत्व वाली रेल मंत्रालय यात्री सुविधा के साथ साथ रेलवे के बुनियादी एवं ढांचागत विकास को बढ़ावा दे रही है।

आज देश भर में आगामी पचास एवं सौ साल को मद्देनजर रखते हुए लाखों करोड़ की लागत सैकड़ों रेलवे स्टेशन का कायाकल्प किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि देश में हाई स्पीड ट्रेन की परिकल्पना सच हो रहा है एवं दुर्गम इलाकों तक रेल कनेक्टिविटी का सपना साकार हो रहा है।आने वाले दिनों में निर्माणाधीन परियोजना के पूर्ण हो जाने के पश्चात भारतीय रेलवे दुनिया के पटल पर एक नया इतिहास लिखेगा।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button