गहलोत के बयान पर बोले शेखावत-भगवान का शुक्र है कि उन्होंने इस बार आरोपों से मुझे बख्श दिया

गहलोत के बयान पर बोले शेखावत-भगवान का शुक्र है कि उन्होंने इस बार आरोपों से मुझे बख्श दिया

जोधपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने हाल ही में सचिन पायलट को गद्दार बताते हुए बीजेपी के साथ मिलकर सरकार गिराने की साजिश करने का बयान दिया था. उन्होंने कहा कि बीजेपी (BJP) दफ्तर से दस करोड़ रुपए उठाए गए थे और इस साजिश में बीजेपी के मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) समेत कई लोग शामिल थे.

गहलोत के इस बयान पर चुटकी लेते हुए केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत (Gajendra Singh Sekhawat) ने कहा कि भगवान का शुक्र है कि इस बार उन्होंने मुझे बख्श दिया. सीएम गहलोत का यह बयान तब आया है जबकि उनके पाले के तीन बड़े नेताओं के खिलाफ अनुशासनहीनता की कार्रवाई न होने से नाराज होकर प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

जोधपुर में मीडिया से बातचीत में केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि राजस्थान कांग्रेस में जिस तरह का घमासान चल रहा है, वह जगजाहिर है. हालांकि, यह कांग्रेस के अंदरूनी मामले हैं, उनके घर के मैटर्स है. जिनके साथ मुख्यमंत्री हमेशा ही भाजपा और भाजपा नेताओं को जोड़ देते हैं. कल भी उन्होंने दो मंत्रियों का नाम लिया. शुक्र है कि मुख्यमंत्री ने इस बार मेरा नाम नहीं लिया.

इस सरकार से जनता का भरोसा टूट चुका है

शेखावत ने कहा कि हालांकि उनका हर एक वक्तव्य राजनीति से प्रेरित होता है. लिहाजा इसमें भी उन्होंने कोई राजनीति ढूंढी होगी. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जिस तरह के हालात हैं, उसका खामियाजा कांग्रेस पार्टी जो भारत जोड़ने के लिए निकली है, उसको निश्चित रूप से होगा.

जिस तरह से कांग्रेस पार्टी को दीमक लगा है, उससे परेशान और कष्ट में कोई है तो वह राजस्थान की जनता ही है. जिस भरोसे के साथ जनता ने सरकार बनाई थी, उसका भरोसा टूट चुका है. अब जनता एक-एक दिन गिनकर इंतजार कर रही है और कुछ दिनों में काउंटडाउन भी शुरू हो जाएगा.

सिटी बस नहीं, इनोवा जितने विधायक आएंगे

सरकार रिपीट होने के सवाल पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि सरकार वापस आएगी या नहीं आएगी, यह तय करना जनता का काम है. हालांकि, 2003 और 2013, दोनों में अशोक गहलोत मुख्यमंत्री थे. आप पुराने रिकॉर्ड उठाकर देख लीजिए. दोनों बार वह इसी तरीके के दावे करते थे. पिछली बार एक सिटी बस में बैठने जितने विधायक बचे थे. अबकी बार उन्हीं के मंत्री कह रहे हैं कि एक इनोवा या एक फॉर्च्यूनर में आ जाएंगे.

Previous Post: जब 90,000 पाक सैनिकों ने घुटने टेके:मेजर जनरल जैकब ने सरेंडर के पेपर देकर 30 मिनट का अल्टीमेटम दिया


For More Updates Visit Our Facebook Page

Also Visit Our Telegram Channel | Follow us on Instagram | Also Visit Our YouTube Channel

गहलोत के बयान पर बोले शेखावत-भगवान का शुक्र है कि उन्होंने इस बार आरोपों से मुझे बख्श दिया

Exit mobile version