भालपट्टी मुखिया के खिलाफ ग्रामीणों ने निश्चितकालीन धरना करेंगे

भालपट्टी मुखिया के खिलाफ ग्रामीणों ने निश्चितकालीन धरना करेंगे।

दरभंगा। सदर प्रखंड के भालपट्टी पंचायत के पूर्व पंचायत समिति सदस्य आनंद चौधरी एवं दर्जनों ग्रामीण ने मुखिया विनोद साहू पर लगाए कई गंभीर आरोप। बता दे की पूर्व पंचायत समिति सदस्य आनंद चौधरी ने बताया कि मुखिया विनोद साहू के द्वारा दो साल से ज्यादा का समय बीत जाने के बाद भी पंचायत में कोई कार्य सही से नहीं हुआ जो भी काम हुआ है अधूरा हुआ है।

सदर प्रखंड क्षेत्र के सबसे पहला पंचायत सरकार भवन भालपट्टी पंचायत में बना जो खंडर में तब्दीर हो चुका है पर इसका अभी तक मेंटेनेंस कार्य नहीं किया गया जबकि कई बार प्रखंड पदाधिकारी के द्वारा मुखिया को पंचायत भवन मेंटेनेंस कार्य को करने को लेकर कई बार आदेशित किया गया पर मुखिया ने किसी को ना सुनकर अपने मनमानी पर अरे हुए हैं।

सुंदर सागर पोखर में घाट का अधूरा निर्माण कर छोड़ दिया है जिसे कभी भी कोई बड़ी घटना घट सकती है। पोखर में ग्रामीणों द्वारा स्नान किया जाता है जहां अधूरा घाट में बड़े-बड़े कील निकले हुए हैं जिससे कई लोग घायल होते-होते बचे हैं। वहीं ग्रामीण चंद्र देव चौधरी ने बताया कि पिछले कई महीनो से भालपट्टी पंचायत में जल नल नहीं चल रहा है यही नहीं मुखिया और वार्ड सदस्य में ताल मेल नहीं होने के कारण पंचायत के कई कार्य बाधित हुए हैं। सरकार भवन पर किसान सलाहकार सुभाष कुमार मंडल एवं कर्मचारी चंदन कुमार के अलावा कोई भी कमी उपस्थित नहीं रहते हैं।

सभी प्रकार के गवर्नमेंट एग्ज़ाम की तैयारी को सुनिश्चित करने के लिए आज हमारे ऐप को डाउनलोड करें

वहीं ग्रामीण भोला मंडल ने बताया कि भालपट्टी पंचायत का दुर्भाग है कि इस प्रकार मुखिया अपने मनमानी पर तुले हुए हैं और पंचायत का विकास नहीं करना चाहते हैं मुखिया की मनमाणी के कारण कहीं कोई कार्य सही से नहीं किया जा रहा है।जल नल का तो सबसे बुरा हाल है यही नहीं मुखिया लोगों की समस्या भी नहीं सुनते हैं अपने मनमानी से जो मन हुआ किया वही आज तक एक भी आमसभा का नहीं लगाया गया ना ही जनता की समस्या सुनने को लेकर तैयार है।

अगर इस प्रकार से मुखिया रवैया अपनाते रहे तो सभी ग्रामीण मिलकर प्रखंड विकास पदाधिकारी से लेकर जिला पदाधिकारी तक लिखित आवेदन देकर अनिश्चित कर प्रखंड मुख्यालय पर धरना के लिए बैठ जाएंगे। वही इस मामले पर प्रखंड विकास पदाधिकारी विजय कुमार सौरभ ने बताया कि अभी तक ग्रामीण की ओर से कोई शिकायत प्राप्त नहीं हुआ है जैसे ही शिकायत मिलेगी जांच करके कार्रवाई की जाएगी।

Exit mobile version